IBPS PO Exam 2019 Tips: मॉक टेस्ट के अभ्यास और सही रणनीति से मिलेगी सफलता

IBPS Bank PO परीक्षा में सफलता की रणनीति

0 66

जॉब्स के लिए बैंकिंग सेक्टर सबसे लोकप्रिय विकल्पों में से एक है। इसमें जॉब के मौके भी भरपूर होते हैं। एक रिपोर्ट के अनुसार देश के बैंकिंग सेक्टर में 2022 तक करीब 20 लाख रोजगार के अवसर बनेंगे। इसके लिए समय-समय पर बैंकिंग परीक्षाओं का आयोजन किया जाता है, जिसमें लाखों की संख्या में युवा भाग लेते हैं। बैंक पीओ और क्लर्क जैसे पदों के लिए परीक्षाएं छात्रों के बीच में खासी लोकप्रिय हैं।

इंस्टीट्यूट ऑफ बैंकिंग पर्सनल सिलेक्शन (आईबीपीएस)  प्रोबेशनरी ऑफिसर (पीओ) / मैनेजमेंट ट्रेनी व समान पदों के लिए प्रारंभिक परीक्षा 12 से 20 अक्टूबर तक होने वाली है । इसमें सफल होने वाले उम्मीदवार 30 नवंबर को प्रस्तावित मुख्य परीक्षा में शामिल हो सकेंगे। उसमें सफल होन वालो का जनवरा/ फरवरी में प्रस्तावित इंटरव्यू में शामिल होना होगा। 17 बैंकों के प्रोबेशनरी ऑफिसर व मैनेजमेंट ट्रेनी के 4,336 पदों के लिए यह परीक्षा हो रही है। इसमें 30 से 35 लाख तक युवाओं के शामिल होने की संभावना है, इसलिए प्रतिस्पर्धा बेहद कड़ी है। लेकिन सही तरीके से और रणनीति के साथ तैयारी करने से इसे क्लियर किया जा सकता है।

0.5 प्रतिशत का ही होता है चयन

इसमें कड़ी प्रतिस्पर्धा का अंदाजा इसीसे लगाया जा सकता है कि देशभर में हर साल लगभग 35 लाख युवा इसमें शामिल होते हैजिसमें से लगभग 20 हजार का ही मुख्य परीक्षा के लिए चयन हो पाता हैपरीक्षा में भाग लेने वालों के मुकाबले इसमें सिर्फ 0.5% ही सफल हो पाते हैं।

परीक्षा के 3 चरण

1. प्रारंभिक परीक्षा

2. मुख्य परीक्षा

3. इंटरव्यू

10-15 फीसदी बिहार-झारखंड से

आईबीपीएस की परीक्षा में शामिल होने वालों में करीब 10 से 15 फीसदी बिहार और झारखंड से होते हैं। वहीं पीओ और क्लर्क स्तरीय परीक्षाओं में हर वर्ष बिहार से करीब 1500 का चयन किया जाता है।

परीक्षा की तैयारी

अभी आवेदन की अंतिम तिथि 28 अगस्त है। अक्टूबर में प्रारंभिक परीक्षा है यानी आपके पास केवल सितंबर का महीना है। प्रारंभिक परीक्षा में 3 विषय हैं इंग्लिश लैंग्वेज, क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड और रीजनिंग एबिलिटी। तीनों विषयों के लिए परीक्षा में 20-20 मिनट तय हैं। इंग्लिश में 30 प्रश्न तथा शेष 2 में 35-35 प्रश्न आएंगे। प्रश्नों में आपकी भाषा, तर्कशक्ति और समझबूझ आंकी जाती है। इसके लिए आपको विगत वर्षों के प्रश्नपत्र देखने व हल करने होंगे। यह ध्यान रखना होगा कि किसी एक सवाल पर न तो ज्यादा समय लगाएं और न ही गलत उत्तर देने की कोशिश करें।

कम समय में अधिक प्रश्न हल करने की कोशिश

पिछली आईबीपीएस की परीक्षाओं .में देखने को मिला है कि 60 से • 70 फीसदी प्रश्न सही करने वाले छात्रों के चयन की संभावनाएं बढ़ जाती हैं। अगर आप इस परीक्षा में सफल होना चाहते हैं तो न केवल विगत वर्षों के प्रश्नपत्र हल करें बल्कि प्रि-एग्जाम ट्रेनिंग भी लें, जो आईबीपीएस द्वारा 23 से 28 सितंबर के बीच करवाई जाएगीमॉक टैस्ट का ज्यादा से ज्यादा अभ्यास आपको सफलता दिलवा सकता है। इससे आपको प्रश्नों का स्वरूप व पैटर्न समझ में आएगा। इससे आपको यह भी पता तलेगा कि कटऑफ निर्धारित करने की प्रक्रिया क्या है और आप कितनी मेहनत और करें कि आसानी से कटऑफ की नैया पार लग जाए।

कौन दे सकता है यह परीक्षा

शैक्षणिक योग्यता :  किसी भी विषय समूह में स्नातक .

आय सीमा : 1 अगस्त 2019 को न्यनतम 20 वर्ष और अधिकतम 307

जिन्होंने अभी तक आवेदन नहीं किया है, वे वेबसाइट www.ibps.in देखें।

• बिहार के इन शहरों में होंगे ऑनलाइन परीक्षा केंद्रः आरा, औरगांबाद, भागलपुर, बिहार शरीफ, दरभंगा, हाजीपुर, गया, मुजफ्फरपुर, पटना,पूर्णिया, समस्तीपुर, सिवान

• झारखंड के इन शहरों में होंगे ऑनलाइन परीक्षा केंद्रः बोकारो स्टील सिटी, धनबाद, हजारीबागजमशेदपुर, रांची

Source Dainik Bhaskar
Subscribe to our newsletter
Sign up here to get the latest news, updates and special offers delivered directly to your inbox.

Leave A Reply

Your email address will not be published.